आरएसएस की नज़र अब टिक टॉक पर

पुलवामा हमले के बाद देश में एक अलग सी क्रांति चल रही है| कभी रिलायंस फाउंडेशन पाकिस्तान सुपर लीग (PSL) से अपना स्पॉन्सरशिप वापस ले रही हैं, तो कहीं क्रिकबज (CricBuzz) पाकिस्तान सुपर लीग का स्कोर दिखाने से मना कर रही है।

क्या इससे देश सुरक्षित हो गया? क्या ये लोग पुलवामा हमले का इंतज़ार कर रहे थे? क्या इससे पहले कोई हमला नही हुआ था? अगर हुआ था तो फिर क्यों पाकिस्तान के साथ बिज़नेस शुरू किया गया? इसी सिलसिले में अक नया नाम जुड़ा है, प्रसिद्ध मोबाइल ऐप “टिक टॉक” का|Tik Tokटिक टॉक एक जानी मानी चाइनीज ऐप है, अब इसे बैन करने की बात सामने आई है| आरएसएस से जुड़े संगठन, “स्वदेशी जागरण मंच” ने चीनी ऐप और टेलीकॉम इक्विपमेंट को बैन करने की मांग के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक लेटर लिखा है| स्वदेशी जागरण मंच ने अपने लैटर मे लिखा है कि –

”पुलवामा हमले ने देश की रूह को हिलाकर रख दिया है| हम मानते हैं कि ऐसे समय में सभी भारतीयों का कर्तव्य है कि वे ऐसे आतंकियों का सीधे तौर पर या चुपचाप रहकर समर्थन पहुंचाने वाले किसी देश या शख्स का आर्थिक फायदा रोकने के लिए कदम उठाएं|”

इस लेटर में उन्होंने ने यहाँ तक कह डाला कि, “पिछले दो सालों में चीनी सोशल मीडिया और ई-कॉमर्स कंपनियों का भारत में दायरा बढ़ा है| इन ऐप्स को कई तरह के सिक्यॉरिटी रिस्क के लिए भी जाना जाता है|”

swadeshi jagran manchस्वदेशी जागरण मंच ने टिक टॉक समेत कई अन्य ऐप पर अपनी चिंता जताई है। आपको बता दें कि बीते कुछ सालों में रक्षा मंत्रालय ने 42 से ज्यादा ऐप्स को अनइंस्टॉल करने के लिए गाइडलाइन जारी किया है। ऐसे में दिलचस्प सवाल ये है कि भारत सरकार विभिन्न संगठनों और दलों के कहने पर काम करती है या फिर अपनी इंटेलिजेंस टीम के अनुसार।

इसी तरह कुछ दिन पहले तमिलनाडु सरकार ने इस प्रस्ताव को रखा था। तमिलनाडु के आईटी मंत्री मणिकंदन ने इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा इस ऐप द्वारा देश के यूवाओं को बिगाड़ा जा रहा है और देश के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश की जा रही है| गौरतलब है कि भारत में करोड़ों की संख्या में लोग टिक टॉक चला रहे हैं। टिक टॉक द्वारा अश्लील कंटेंट प्रस्तुत किया जा रहा है, जिससे देश की संस्कृति को खतरा पहुँच सकता है और देश के युवा गलत रास्ते पर कदम बढ़ा सकते हैं। मणिकंदन बोलते-बोलते यहाँ तक बोल गए कि ऐप पर पोर्न कंटेंट भी अपलोड किया जा रहा है।

भारत में टिक टॉक खूब पसंद किया जाने वाला ऐप है, बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक इस ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं। सबसे ज्यादा इस ऐप को केरला, उत्तरप्रदेश, गुजरात, मध्यप्रदेश, राजस्थान जैसे राज्यों में इस्तेमाल किया जा रहा है।

Rohit Jha

A writer who is willing to produce a work of art, To note, To pin down, To build up, To make something, To make a great flower out of life even if it's a cactus.

Leave a Reply